रोजाना फ्री टिप्स के लिए हमसे WhatsApp Group पर जुड़ें Join Now

रोजाना फ्री टिप्स के लिए हमसे Telegram Group पर जुड़ें Join Now

राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay || Rashi Ke Anusar Shani Jayanti Upay

राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय, Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay, Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay Batao, Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay Bataye, Rashi Anusar Shani Jayanti Ka Upay. 

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

नोट : यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

30 साल के फ़लादेश के साथ वैदिक जन्मकुंडली बनवाये केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

यह तो आप सब जानते हो की हमारे हिन्दू धर्म के ग्रंथों के अनुसार शनिदेव को ग्रहों में न्यायाधीश का पद प्राप्त है ! इन्हें न्याय के देवता कहा जाता हैं ! जातक के अच्छे और बुरे कर्मों का फ़ल शनिदेव ही देते हैं ! जिस भी व्यक्ति पर शनिदेव की टेड़ी नजर पड़ जाए, वह थोड़े ही समय में राजा से रंक बन जाता है और जिस पर शनिदेव प्रसन्न हो जाएं वह मालामाल भी हो जाता है ! ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को सूर्यास्त के समय शिंगणापुर नगर में शनिदेव की उत्पत्ति हुई थी ! Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi द्वारा बताये जा रहे राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay को पढ़कर शनि जयंती के दिन कुछ खास ऊपर कर सकोंगे ! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें : 9667189678 Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay By Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi.

राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

मेष राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Mesh Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

यदि आप मेष राशि के जातक हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay अनुसार शनि जयंती वाले दिन एक काले कपडे में 400 ग्राम साबुत उडद, 7 लोहे की कील और 4 कोयले के टूकडे रखकर दान करे। इसके साथ निम्न उपाय करें :

  • शनि जयंती पर सवा पांच रत्ती का नीलम या उपरत्न (नीली) सोना, चांदी या तांबे की अंगूठी में अभिमंत्रित करवा कर धारण करें।
  • शनि यंत्र के साथ नीलम या फिरोजा रत्न गले में लॉकेट की आकृति में पहन सकते हैं ।
  • किसी भी विद्वान ब्राह्मण से या स्वयं शनि के मंत्रों के 23000 जाप करें या करवाएं। ये है शनि का मंत्र : “ऊं प्रां प्रीं सरू श्नैश्चराय नम:”
  • शनि जयंती को व्रत रखें। चींटियों को आटा डालें।
  • जूते, काले कपड़े, मोटा अनाज व लोहे के बर्तन दान करें।

वृषभ राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Vrishabha Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

यदि आप वृषभ राशि के जातक हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay अनुसार शनि जयंती वाले दिन शनि स्त्रोत का पाठ करके पीपल के नीचे तेल का दीपक जलायें। इसके साथ निम्न उपाय करें :

  • काले घोड़े की नाल या समुद्री नाव की कील से लोहे की अंगूठी बनवाएं। उसे तिल के तेल में रखें तथा उस पर शनि मंत्र का 23000 जाप करें। शनि जयंती पर इसे धारण करें। यह अंगूठी मध्यमा (शनि की उंगली) में ही पहनें।
  • किसी भी विद्वान ब्राह्मण से या स्वयं शनि के मंत्रों के 23000 जाप करें या करवाएं। मंत्र- “ऊं ऐं ह्लीं श्रीशनैश्चराय नम:”
  • शनिदेव का अभिषेक सरसो के तेल से करें व 108 दीपकों से शनिदेव की आरती करें।

मिथुन राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Mithun Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

यदि आप मिथुन राशि के जातक हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay अनुसार शनि जयंती वाले दिन काले कुत्ते को मीठी रोटी खिलायें। इसके साथ निम्न उपाय करें :

  • शनि के दुष्प्रभाव को कम करने के लिए 7 प्रकार के अनाज व दालों को मिश्रित करके पक्षियों को चुगाएं।
  • बैंगनी रंग का सुगंधित रूमाल अपने पास रखें।
  • शनिदेव के सामने खड़े रहकर दर्शन न करें, एक ओर खड़े रहकर दर्शन करें, ताकि शनिदेव की दृष्टि सीधे आप पर न पड़े।
  • शनि जयंती पर सवा पांच रत्ती का नीलम या उपरत्न (नीली) सोना, चांदी या तांबे की अंगूठी में अभिमंत्रित करवा कर मध्यमा उंगली में पहनें।

कर्क राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Kark Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

यदि आप कर्क राशि के जातक हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay अनुसार शनि जयंती वाले दिन व्रत करे और शनि के मन्दिर में सरसों के तेल का दीपक जलायें। इसके साथ निम्न उपाय करें :

  • शनि जयंती पर तथा प्रत्येक शनिवार को सुबह स्नान आदि करने के बाद बड़ (बरगद) और पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीपक लगाएं और दूध एवं धूप आदि अर्पित करें।
  • काले धागे में बिच्छू घास की जड़ को अभिमंत्रित करवा कर शनि जयंती या किसी शनिवार को शुभ मुहूर्त में धारण करने से भी शनि संबंधी सभी कार्यों में सफलता मिलती है।
  • शनि जयंती पर इन 10 नामों से शनिदेव का पूजन करें- इस दिन व्रत करे और शनि के मन्दिर में सरसों के तेल का दीपक जलायें. कोणस्थ पिंगलो बभः कृष्णो रौद्रोन्तको यमः। सौरिः शनैश्चरो मंदः पिप्पलादेन संस्तुतः।। अर्थातः 1- कोणस्थ, 2- पिंगल, 3- बभ्रु, 4- कृष्ण, 5- रौद्रान्तक, 6- यम, 7, सौरि, 8- शनैश्चर, 9- मंद व 10- पिप्पलाद। इन दस नामों से शनिदेव का स्मरण करने से सभी शनि दोष दूर हो जाते हैं।

सिंह राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Singh Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

यदि आप सिंह राशि के जातक हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay अनुसार शनि जयंती वाले दिन पारद शिवलिंग के सामने महामृ्त्युंजय मंत्र का 108 बार जप करे। इसके साथ निम्न उपाय करें :

  • काली गाय की सेवा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं। उसके शीश पर रोली लगाकर सींगों में कलावा बांधकर धूप-आरती करनी चाहिए। फिर परिक्रमा करके गाय को बूंदी के चार लड्डू खिला दें।
  • शनि जयंती पर तथा हर शनिवार को उपवास रखें। सूर्यास्त के बाद हनुमानजी का पूजन करें। पूजन में सिंदूर, काली तिल्ली का तेल, इस तेल का दीपक एवं नीले रंग के फूल का प्रयोग करें।
  • सवा पांच रत्ती का नीलम या उपरत्न (नीली) सोना, चांदी या तांबे की अंगूठी में अभिमंत्रित करवा कर धारण करें।
  • शनि जयंती पर जूते, काले कपड़े, मोटा अनाज व लोहे के बर्तन दान करें।

कन्या राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Kanya Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

यदि आप कन्या राशि के जातक हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay अनुसार शनि जयंती वाले दिन सूखे नारियल को साफ़ जल में प्रवाह करें। इसके साथ निम्न उपाय करें :

  • शनि जयंती व शनिवार को बंदरों व काले कुत्तों को लड्डू खिलाने से भी शनि का कुप्रभाव कम हो जाता है अथवा काले घोड़े की नाल या नाव में लगी कील से बना छल्ला धारण करें।
  • शनि जयंती के एक दिन पहले काले चने पानी में भिगो दे। शनि जयंती के दिन ये चने, कच्चा कोयला, हल्की लोहे की पत्ती एक काले कपड़े में बांधकर मछलियों के तालाब में डाल दें। यह टोटका पूरा एक साल करें। इस दौरान भूल से भी मछली का सेवन न करें।
  • किसी भी विद्वान ब्राह्मण से या स्वयं शनि के मंत्रों के 23000 जाप करें या करवाएं। ये है शनि का मंत्र-“ऊं प्रां प्रीं सः श्नैश्चराय नमः”
  • शनि जयंती व प्रत्येक शनिवार को व्रत रखें। चींटियों को आटा डालें।

तुला राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Tula Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

यदि आप तुला राशि के जातक हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay अनुसार शनि जयंती वाले दिन एक काले कपडे में 400 ग्राम साबुत उडद रखकर किसी भिखारी को दान करें। इसके साथ निम्न उपाय करें :

  • शनि जयंती के एक दिन पहले सवा-सवा किलो काले चने अलग-अलग तीन बर्तनों में भिगो दें। अगले दिन नहाकर, साफ वस्त्र पहनकर शनिदेव का पूजन करें और चनों को सरसों के तेल में छौंक कर इनका भोग शनिदेव को लगाएं और अपनी समस्याओं के निवारण के लिए प्रार्थना करें। इसके बाद पहला सवा किलो चना भैंसे को खिला दें। दूसरा सवा किलो चना कुष्ट रोगियों में बांट दें और तीसरा सवा किलो चना अपने ऊपर से उतारकर किसी सुनसान स्थान पर रख आएं। इस टोटके को करने से शनिदेव के प्रकोप में कमी आ सकती है।
  • सवा किलो काला कोयला, एक लोहे की कील एक काले कपड़े में बांधकर अपने सिर पर से घुमाकर जल में प्रवाहित कर दें।
  • शनि जयंती के दिन सुबह किसी नदी में स्नान करने के बाद समीप स्थित किसी शनि मंदिर में जाकर शनि देव की आरती करें। इसके बाद जरूरतमंदों का दान करें।

वृश्चिक राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Vrishchik Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

यदि आप वृश्चिक राशि के जातक हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay अनुसार शनि जयंती वाले दिन सूखे नारियल अपने सिर से 7 बार उतार कर साफ़ जल में प्रवाह करें। इसके साथ निम्न उपाय करें :

  • शनि जयंती पर शनि यंत्र की स्थापना व पूजन करें। इसके बाद प्रतिदिन इस यंत्र की विधि-विधान पूर्वक पूजा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं। प्रतिदिन यंत्र के सामने सरसों के तेल का दीप जलाएं। नीला या काला पुष्प चढ़ाएं। ऐसा करने से लाभ होगा।
  • शनि जयंती के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त होकर कुश के आसन पर बैठ जाएं। सामने शनिदेव की मूर्ति या तस्वीर स्थापित करें व उसकी पंचोपचार से विधिवत पूजन करें। इसके बाद रुद्राक्ष की माला से नीचे लिखे किसी एक मंत्र की कम से कम पांच माला जाप करें तथा शनिदेव से सुख-संपत्ति के लिए प्रार्थना करें। यदि प्रत्येक शनिवार को इस मंत्र का इसी विधि से जाप करेंगे तो शीघ्र लाभ होगा। वैदिक मंत्र- “ऊँ शन्नोदेवीरभिष्टय आपो भवन्तु पीतये शन्योरभिस्त्रवन्तु नः”
  • किसी जरुरतमंद को काले कंबल व काले जूते का दान करें। छतरी का दान करें। 

धनु राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Dhanu Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

यदि आप धनु राशि के जातक हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay अनुसार शनि जयंती वाले दिन व्रत करे और पारद शिवलिंग के सामने महामृ्त्युंजय मंत्र का 108 बार जप करे। इसके साथ निम्न उपाय करें :

  • शनि जयंती पर किसी श्री हनुमान मंदिर में जाकर श्री हनुमान चालीसा का पाठ करें और शनि दोष की शांति के लिए श्री हनुमान जी से प्रार्थना करें। बूंदी के लड्डू का भोग भी लगाएं।
  • शनि जयंती पर 11 साबूत नारियल बहते हुए जल में प्रवाहित करें और शनिदेव से जीवन को सुखमय बनाने के लिए प्रार्थना करें।
  • शनि जयंती पर तथा प्रत्येक शनिवार को सुबह स्नान आदि करने के बाद सरसों के तेल का दीपक लगाएं और दूध एवं धूप आदि अर्पित करें।
  • सवा पांच रत्ती का नीलम या उपरत्न (नीली) सोना, चांदी या तांबे की अंगूठी में अभिमंत्रित करवा कर धारण करें।

मकर राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Makar Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

यदि आप मकर राशि के जातक हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay अनुसार शनि जयंती वाले दिन तांबे के कलश में जल भरकर पीपल को जल प्रदान कर पीपल के नीचे तेल का दीपक जलायें। इसके साथ निम्न उपाय करें :

  • शमी वृक्ष की जड़ को विधि-विधान पूर्वक घर लेकर आएं। शनि जयंती के दिन किसी योग्य विद्वान से अभिमंत्रित करवा कर काले धागे में बांधकर गले या बाजू में धारण करें। शनिदेव प्रसन्न होंगे तथा शनि के कारण जितनी भी समस्याएं हैं, उनका निदान होगा।
  • काले धागे में बिच्छू घास की जड़ को अभिमंत्रित करवा कर श्रवण नक्षत्र में या शनि जयंती के शुभ मुहूर्त में धारण करने से भी शनि संबंधी सभी कार्यों में सफलता मिलती है।
  • शनिवार को इन 10 नामों से शनिदेव का पूजन करें- कोणस्थ पिंगलो बभः कृष्णो रौद्रोन्तको यमः। सौरिरू शनैश्चरो मंदरू पिप्पलादेन संस्तुतरू।। अर्थातरू 1- कोणस्थ, 2- पिंगल, 3- बभ्रु, 4- कृष्ण, 5- रौद्रान्तक, 6- यम, 7, सौरि, 8- शनैश्चर, 9- मंद व 10- पिप्पलाद। इन दस नामों से शनिदेव का स्मरण करने से सभी शनि दोष दूर हो जाते हैं।

कुंभ राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Kumbh Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

यदि आप कुम्भ राशि के जातक हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay अनुसार शनि जयंती वाले दिन एक काले कपडे में 400 ग्राम साबुत उडद, 7 लोहे की कील और 4 कोयले के टूकडे रखकर दान करे। इसके साथ निम्न उपाय करें :

  • शनि जयंती के दिन बंदरों और काले कुत्तों को लड्डू खिलाने से भी शनि का कुप्रभाव कम हो जाता है। काले घोड़े की नाल या नाव में लगी कील से बना छल्ला धारण करें।
  • शनि यंत्र के साथ नीलम या फिरोजा रत्न गले में लॉकेट की आकृति में पहन सकते हैं, यह उपाय भी उत्तम है।
  • गहरे नीले रंग का सुगंधित रूमाल अपने पास रखें।
  • शनिदेव के सामने खड़े रहकर दर्शन न करें, एक ओर खड़े रहकर दर्शन करें, ताकि शनिदेव की दृष्टि सीधे आप पर नहीं पड़े।
  • शनि जयंती के दिन श्री हनुमान जी को चोला चढ़ाएं। चोले में सरसों या चमेली के तेल का उपयोग करें और इन तेलों से ही दीपक भी जलाएं।

मीन राशि अनुसार शनि जयंती के उपाय || Meen Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay

यदि आप मीन राशि के जातक हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Rashi Anusar Shani Jayanti Ke Upay अनुसार शनि जयंती वाले दिन काले कुत्ते को मीठी रोटी खिलायें। इसके साथ निम्न उपाय करें :

  • शनि जयंती के दिन चोकर युक्त आटे की दो रोटी लेकर एक पर तेल और दूसरी पर घी चुपड़ दें। घी वाली रोटी पर थोड़ा मिष्ठान रखकर काली गाय को खिला दें तथा दूसरी रोटी काले कुत्ते को खिला दें और शनिदेव का स्मरण करें।
  • एक कांसे की कटोरी में तिल का तेल भर कर उसमें अपना मुख देख कर और काले कपड़े में काली उड़द, सवा किलो अनाज, दो लड्डू, फल, काला कोयला और लोहे की कील रख कर डाकोत (शनि का दान लेने वाला) को दान कर दें।
  • शनि जयंती के दिन किसी हनुमान मंदिर में जाकर श्री हनुमान चालीसा का पाठ करें और शनि दोष की शांति के लिए हनुमानजी से प्रार्थना करें। बूंदी के लड्डू का भोग भी लगाएं।
  • शनि जयंती के दिन किसी भी विद्वान ब्राह्मण से या स्वयं शनि के मंत्रों के 23000 जाप करें या करवाएं। ये है शनि का मंत्र-“ऊं प्रां प्रीं सः श्नैश्चराय नमः”

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>


यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

यह पोस्ट आपको कैसी लगी Star Rating दे कर हमें जरुर बताये साथ में कमेंट करके अपनी राय जरुर लिखें धन्यवाद : Click Here

Leave a Comment

रोजाना फ्री टिप्स के लिए हमसे WhatsApp Group पर जुड़ें Join Now

रोजाना फ्री टिप्स के लिए हमसे Telegram Group पर जुड़ें Join Now