अहोई अष्टमी पूजा विधि || Ahoi Ashtami Puja Vidhi || Ahoi Ashtami Puja Ki Vidhi

अहोई अष्टमी पूजा विधि, Ahoi Ashtami Puja Vidhi, Ahoi Ashtami Puja Samagri, Ahoi Ashtami Puja Muhurat, Ahoi Ashtami Pooja Vidhi, अहोई अष्टमी व्रत पूजा विधि, Ahoi Ashtami Vrat Puja Vidhi, Ahoi Ashtami Vrat Puja Samagri, Ahoi Ashtami Vrat Puja Muhurat, Ahoi Ashtami Vrat Pooja Vidhi, अहोई अष्टमी व्रत पूजा की विधि, Ahoi Ashtami Vrat Puja Ki Vidhi, Ahoi Ashtami Vrat Puja Ki Samagri, Ahoi Ashtami Vrat Puja Ki Muhurat, Ahoi Ashtami Vrat Pooja Ki Vidhi, अहोई अष्टमी पूजा की विधि, Ahoi Ashtami Puja Ki Vidhi, Ahoi Ashtami Puja Ki Samagri, Ahoi Ashtami Puja Ki Muhurat, Ahoi Ashtami Pooja Ki Vidhi.

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

नोट : यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

30 साल के फ़लादेश के साथ वैदिक जन्मकुंडली बनवाये केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

हर महीनें का राशिफल, व्रत, ज्योतिष उपाय, वास्तु जानकारी, मंत्र, तंत्र, साधना, पूजा पाठ विधि, पंचांग, मुहूर्त व योग आदि की जानकारी के लिए अभी हमारे Youtube Channel Pandit Lalit Trivedi को Subscribers करना नहीं भूलें, क्लिक करके अभी Subscribers करें : Click Here

अहोई अष्टमी पूजा विधि || Ahoi Ashtami Puja Vidhi

कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष तिथियों में हिन्दू धर्म के त्योहारों की भरमार देखने को मिलती है ! इन मुख्य: त्योहारों में से करवा चौथ और अहोई अष्टमी महिलाओं के द्वारा किए जाने वाले विशेष दो त्योहारों पर्व हैं। यह व्रत कार्तिक माह लगते ही अष्टमी तिथि को किया जाता है| जिस वार की दीपावली होती है अहोई आठें भी उसी वार की पड़ती है| इस व्रत को वे स्त्रियाँ ही करती हैं जिनके सन्तान होती हैं | Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi द्वारा बताये जा रहे अहोई अष्टमी पूजा विधि || Ahoi Ashtami Puja Vidhi को करके आप भी बहुत ही आसानी तरीखें से पूजा करके फायदा व् लाभ उठा सकते है !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! जय श्री मेरे पूज्यनीय माता – पिता जी !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें Mobile & Whats app Number : 9667189678 Ahoi Ashtami Puja Vidhi By Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi.

अहोई अष्टमी पूजा विधि || Ahoi Ashtami Puja Vidhi

अहोई अष्टमी पूजा कब की है ? || Ahoi Ashtami Puja Kab Ki Hai ?

Ahoi Ashtami Vrat Puja को अक्टूबर महीने की 21 तारीख़, वार सोमवार के दिन बनाई जायेगीं !

सरल  ज्योतिष उपाय के लिए हमारे Youtube चेनल को Subscriber करें : Click Here

अहोई अष्टमी पूजा सामग्री || Ahoi Ashtami Puja Samagri : 

चोकी या पटरा, जल से भरा लोटा, स्याऊ ( चांदी से बनी हुई अहोई माता जिसमे चाँदी के दो दाने होते हैं )   

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

अहोई अष्टमी पूजा मुहूर्त || Ahoi Ashtami Puja Muhurt : 

संध्या के 04:23 मिनट से सूर्य अस्त तक रहेगा ! इस दिन तारे उदय शाम 6:00 बजे के बाद होगें !

अहोई अष्टमी पूजा विधि || Ahoi Ashtami Puja Vidhi

संध्या के समय सूर्यास्त होने के बाद जब तारे निकलने लगते हैं तो अहोई माता की पूजा प्रारंभ होती है। सायंकाल दीवार पर अष्ट कोष्ठक की अहोई की पुतली रंग भरकर बनाएँ| पूजन से पहले जमीन को स्वच्छ करके, पोछा चोका लगाकर एक लोटा जल भरकर एक पटरे पर कलश की भांति रखकर पूजा करें| भक्ति भाव से पूजा करें। बाल-बच्चों के कल्याण की कामना करें।

सरल  ज्योतिष उपाय के लिए हमारे Youtube चेनल को Subscriber करें : Click Here

इसमें एक खास बात यह भी है कि पूजा के लिए माताएँ चाँदी की एक अहोई भी बनाती हैं जिसे बोलचाल की भाषा में स्याऊ भी कहते हैं उसमें चाँदी के दो दाने ( मोती डलवा लें ) जिस प्रकार गले के हार में पैंडिल लगा होता है उसी की तरह चाँदी की अहोई डलवा लें और डोरे में चाँदी के दाने डलवा लें| फिर अहोई की रोली, चावल, दूध व भात से पूजा करें| जल से भरे लोटे पर सतिया बना लें| एक कटोरी में हलवा तथा रुपए बायना निकालकर रख लें और सात दाने गहूँ के लेकर कहानी सुने| कहानी सुनने के बाद अहोई स्याऊ की माला गले में पहन लें| जो बायना निकालकर रखा था, उसे सासू जी के पांव लगाकर आदर पूर्वक उन्हें दे दें|

30 साल के फ़लादेश के साथ वैदिक जन्मकुंडली बनवाये केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

इसके बाद चन्द्रमा को अर्ध्य देकर स्वयं भोजन करें| दीपावली के बाद किसी शुभ दिन अहोई को गले से उतारकर उसका गुड़ में भोग लगाये और जल के छीटे देकर मस्तक झुकाकर रख दें| जितने बेटे हैं उतनी बार तथा जितने बेटों का विवाह हो गया हो उतनी बार चाँदी के दो-दो दाने अहोई में डालते जायें| ऐसा करने से अहोई माता प्रसन्न हो बच्चों की दीर्घायु करके घर में नित नए मंगल करती रहतीं हैं| इस दिन पंडितों को पेठा दान करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है ! 

सरल  ज्योतिष उपाय के लिए हमारे Youtube चेनल को Subscriber करें : Click Here

अहोई का उजमन :

जिस स्त्री को बेटा हुआ हो अथवा बेटे का विवाह हो गया है या हुआ हो तो उसे अहोई माता का उजमन करना चाहिए| एक थाली में सात-सात पूडियाँ रखकर उनपर थोड़ा थोड़ा हलवा रखें| इसके साथ ही एक साड़ी ब्लाउज उस पर सामर्थ्यानुसार रूपये रखकर थाली के चारो ओर हाथ फेरकर श्रद्धापूर्वक सासू जी के पांव लगवाकर वह सभी समान सासू जी को दे दें| तीयल तथा रूपये सासू जी अपने पास रख लें तथा हलवा पूरी का बायना बाँट दें| बहन-बेटी के यहाँ भी बायना भेजना चाहिए |

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>


यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

यह पोस्ट आपको कैसी लगी Star Rating दे कर हमें जरुर बताये साथ में कमेंट करके अपनी राय जरुर लिखें धन्यवाद : Click Here

Related Post :

अहोई अष्टमी व्रत कथा || Ahoi Ashtami Vrat Katha || Ahoi Ashtami Vrat Kahani

अहोई अष्टमी के उपाय || Ahoi Ashtami Ke Upay || Ahoi Ashtami Ke Din Ke Upay

राशि अनुसार अहोई अष्टमी के उपाय || Rashi Anusar Ahoi Ashtami Ke Upay

श्री अहोई माता की आरती || Shri Ahoi Mata Ki Aarti || Shri Ahoi Mata Ji Ki Aarti