रोजाना फ्री टिप्स के लिए हमसे WhatsApp Group पर जुड़ें Join Now

रोजाना फ्री टिप्स के लिए हमसे Telegram Group पर जुड़ें Join Now

Latest Post हनुमान जी

श्री हनुमान अष्टोत्तर शतनामावली स्तोत्रम् || Sri Hanuman Ashtottara Shatanamavali Stotram

श्री हनुमान अष्टोत्तर शतनामावली स्तोत्रम्, Sri Hanuman Ashtottara Shatanamavali Stotram, Sri Hanuman Ashtottara Shatanamavali Stotram Ke Fayde, Sri Hanuman Ashtottara Shatanamavali Stotram Ke Labh, Sri Hanuman Ashtottara Shatanamavali Stotram Benefits, Sri Hanuman Ashtottara Shatanamavali Stotram Pdf, Sri Hanuman Ashtottara Shatanamavali Stotram Mp3 Download, Sri Hanuman Ashtottara Shatanamavali Stotram Lyrics.

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

नोट : यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

30 साल के फ़लादेश के साथ वैदिक जन्मकुंडली बनवाये केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

श्री हनुमान अष्टोत्तर शतनामावली स्तोत्रम् || Sri Hanuman Ashtottara Shatanamavali Stotram

श्री हनुमान अष्टोत्तर शतनाम स्तोत्रम् का नियमित पाठ करने से जातक के जीवन के सारे कष्ट, संकट मिट जाते है । श्री हनुमान अष्टोत्तर शतनाम स्तोत्रम् का नियमित पाठ करने से भगवान श्री हनुमान जी ख़ुश होते हैं !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें : 9667189678 Sri Hanuman Ashtottara Shatanamavali Stotram By Online Specialist Astrologer Sri Hanuman Bhakt Acharya Pandit Lalit Trivedi.

श्री हनुमान अष्टोत्तर शतनामावली स्तोत्रम् || Sri Hanuman Ashtottara Shatanamavali Stotram

(ब्रह्मवैवर्ते घटिकाचलमाहात्म्यतः)

अतिपाटलवक्त्राब्जं धृतहेमाद्रिविग्रहम् ।

आञ्जनेयं शङ्खचक्रपाणिं चेतसि धीमहि ॥ १॥

पारिजातप्रियो योगी हनूमान् नृहरिप्रियः ।

प्लवगेन्द्रः पिङ्गलाक्षः शीघ्रगामी दृढव्रतः ॥ २॥

शङ्खचक्रवराभीतिपाणिरानन्ददायकः ।

स्थायी विक्रमसम्पन्नो रामदूतो महायशाः ॥ ३॥

सौमित्रिजीवनकरो लङ्काविक्षोभकारकः ।

उदधिक्रमणः सीताशोकहेतुहरो हरिः ॥ ४॥

बली राक्षससंहर्ता दशकण्ठमदापहः ।

बुद्धिमान् नैरृतवधूकण्ठसूत्रविदारकः ॥ ५ ॥

Click Here : बिहार राज्य की सरकारी नौकरी की जानकारी पाए |

Click Here : बिहार राज्य की सभी सरकारी योजना की जानकारी केवल एक क्लिक पर |

सुग्रीवसचिवो भीमो भीमसेनसहोदरः ।

सावित्रविद्यासंसेवी चरितार्थो महोदयः ॥ ६॥

वासवाभीष्टदो भव्यो हेमशैलनिवासवान् ।

किंशुकाभोऽग्रयतनू ऋजुरोमा महामतिः ॥ ७॥

महाक्रमो वनचरः स्थिरबुद्धिरभीशुमान् ।

सिंहिकागर्भनिर्भेत्ता भेत्ता लङ्कानिवासिनाम् ॥ ८॥

अक्षशत्रुविनिघ्नश्च रक्षोऽमात्यभयावहः ।

वीरहा मृदुहस्तश्च पद्मपाणिर्जटाधरः ॥ ९॥

सर्वप्रियः सर्वकामप्रदः प्रांशुमुखश्शुचिः ।

विशुद्धात्मा विज्वरश्च सटावान् पाटलाधरः ॥ १०॥

भरतप्रेमजनकश्चीरवासा महोक्षधृक् ।

महास्त्रबन्धनसहो ब्रह्मचारी यतीश्वरः ॥ ११॥

महौषधोपहर्ता च वृषपर्वा वृषोदरः ।

सूर्योपलालितः स्वामी पारिजातावतंसकः ॥ १२॥

सर्वप्राणधरोऽनन्तः सर्वभूतादिगो मनुः ।

रौद्राकृतिर्भीमकर्मा भीमाक्षो भीमदर्शनः ॥ १३॥

सुदर्शनकरोऽव्यक्तो व्यक्तास्यो दुन्दुभिस्वनः ।

सुवेलचारी मैनाकहर्षदो हर्षणप्रियः ॥ १४॥

सुलभः सुव्रतो योगी योगिसेव्यो भयापहः ।

वालाग्निमथितानेकलङ्कावासिगृहोच्चयः ॥ १५॥

Click Here : बिहार राज्य की सरकारी नौकरी की जानकारी पाए |

Click Here : बिहार राज्य की सभी सरकारी योजना की जानकारी केवल एक क्लिक पर |

वर्धनो वर्धमानश्च रोचिष्णू रोमशो महान् ।

महादंष्ट्रो महाशूरः सद्गतिः सत्परायणः ॥ १६ ॥

सौम्यदर्शी सौम्यवेषो हेमयज्ञोपवीतिमान् ।

मौञ्जीकृष्णाजिनधरो मन्त्रज्ञो मन्त्रसारथिः ।

जितारातिः षडूर्मिश्च सर्वप्रियहिते रतः ॥ १७॥

एतैर्नामपदैर्दिव्यैर्यः स्तौति तव सन्निधौ ।

हनुमंस्तस्य किं नाम नो भवेद्भक्तिशालिनः ॥ १८॥

प्रणवं च पुरस्कृत्य चतुर्थ्यन्तैर्नमोऽन्तकैः ।

एतैर्नामभिरव्यग्रैरुच्यते हनुमान् भवान् ॥ १९॥

ऋणरोगादिदारिद्र्यपापक्षुदपमृत्यवः ।

विनश्यन्ति हनुमंस्ते नामसङ्कीर्तनक्षणे ॥ २०॥

भगवन् हनुमन् नित्यं राजवश्यं तथैव च ।

लक्ष्मीवश्यं च श्रीवश्यमारोग्यं दीर्घमायुषम् ॥ २१॥

प्राधान्यं सकलानां च ज्ञातिप्राधान्यमेव च ।

वीर्यं तेजश्च भक्तानां प्रयच्छसि महामते ॥ २२॥

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>


यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

यह पोस्ट आपको कैसी लगी Star Rating दे कर हमें जरुर बताये साथ में कमेंट करके अपनी राय जरुर लिखें धन्यवाद : Click Here

रोजाना फ्री टिप्स के लिए हमसे WhatsApp Group पर जुड़ें Join Now

रोजाना फ्री टिप्स के लिए हमसे Telegram Group पर जुड़ें Join Now

https://panditlalittrivedi.com/
Call Now Button