Latest Post नागपंचमी सावन मास

नागपंचमी पूजा विधि || Nag Panchami Puja Vidhi || Kaise Kare Nag Panchami Puja

नागपंचमी पूजा विधि, Nag Panchami Puja Vidhi, Nag Panchami Puja Samagri, Nag Panchami Puja Kaise Kare, Nag Panchami Puja Muhurat, Nag Panchami Puja Ki Vidhi, Nag Panchami Puja Mantra.

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

नोट : यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

30 साल के फ़लादेश के साथ वैदिक जन्मकुंडली बनवाये केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

नागपंचमी पूजा विधि || Nag Panchami Puja Vidhi || Kaise Kare Nag Panchami Puja

सावन मास की कृष्ण पक्ष की पंचम तिथि के दिन नागपंचमी आती है ! इस दिन विशेष रूप से नाग देवता की पूजा अर्चना की जाती है ! आटे में हल्दी मिलाकर नाग ( नाग-नागिन के जोड़े ) बनाये जाते है या किसी सफ़ेद कागज में नाग बनाते है या किसी धातु के नाग बनाकर पूजा अर्चना की जाती है ! नागपंचमी पूजा विधि करके आप कालसर्प, राहू व् केतु से पीड़ित व् सांप भय आदि से मुक्ति पा सकते है ! हम यंहा आपको कैसे करें नागपंचमी की पूजा की जानकारी देने जा रहे हैं ! Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi द्वारा बताये जा रहे नागपंचमी पूजा विधि || Nag Panchami Puja Vidhi || Kaise Kare Nag Panchami Puja को पढ़कर आप भी नागपंचमी की पूजा विधि के बारे में जान पाएंगे !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! जय श्री मेरे पूज्यनीय माता – पिता जी !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें Mobile & Whats app Number : 9667189678 Nag Panchami Puja Vidhi By Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi. 

नागपंचमी पूजा विधि || Nag Panchami Puja Vidhi

नागपंचमी पूजा मुहूर्त || Nag Panchami Puja Muhurat

सूर्योदय से सुबह 10:30 तक 

दोपहर 12:32 से दोपहर 02:04 तक 

सांय 05:26 से सूर्यास्त तक !

नागपंचमी पूजा की सामग्री || Nag Panchami Puja Ki Samagri

आटे में हल्दी मिलाकर नाग बनाये जाते है या किसी सफ़ेद कागज में नाग बनाते है या किसी धातु के नाग बने हुए, एक दिन पूर्व रात में मोठ और बाजरा भिगो देते है ! या आप Nag Panchami Puja वाले दिन दाल-बाटी-चूरमे के लड्डू बना सकते है ! ( नाग पंचमी वाले दिन हिन्दू धर्म में तवे को अग्नि पर रखना वर्जित माना जाता है ), कच्चा दूध, जल, फुल, रोली, मोली ( कलावा ), चवल, दक्षिणा, लकड़ी का पाटा ( चोकी ), जल सेरा लोटा और बायने के लिए एक कटोरी भीगी मोठ और बाजरा या दाल-बाटी-चूरमे के लड्डू और रूपये ! 

ADS : सरकारी नौकरी संबधित लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए इस Website पर जाए : Click Here

नागपंचमी पूजा विधि || Nag Panchami Puja Vidhi

पहले तो Nag Panchami Puja में लकड़ी का पाटा ( चोकी ) पर लाला कपड़ा बिछाकर आटे में हल्दी मिलाकर बनाये गये नाग ( नाग-नागिन के जोड़े ) या किसी सफ़ेद कागज में बनाये गये नाग या किसी धातु के बने नाग को रख दें ! उसके बाद श्री भगवान् शिव स्मरण करते हुए व नाग देवता का स्मरण करते हुए दिए गये Nag Panchami Puja मंत्र का उच्चारण करें : 

30 साल के फ़लादेश के साथ वैदिक जन्मकुंडली बनवाये केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

नागपंचमी पूजा मंत्र || Nag Panchami Puja Mantra

अनन्तं वासुकिं शेषं पद्मनाभं च कम्बलम्।

शंखपाल धार्तराष्ट्रं तक्षकं कालियं तथा।।

एतानि नव नामानि नागानां च महात्मनाम्।

सायंकाले पठेन्नित्यं प्रात:काले विशेषत:।।

तस्मै विषभयं नास्ति सर्वत्र विजयी भवेत्।।

साधना Whatsapp ग्रुप्स
तंत्र-मंत्र-यन्त्र Whatsapp ग्रुप्स
ज्योतिष व राशिफ़ल Whatsapp ग्रुप्स
Daily ज्योतिष टिप्स Whatsapp ग्रुप्स

नाग-नागिन के जोड़े को दूध से स्नान कराकर उसके बाद शुद्ध जल से स्नान कराकर ! उसके बाद फिर रोली से तिलक करके गंध, पुष्प आदि चढ़ा कर ! धुप व् घी का दीपक जलाएं ! उसके बाद सफेद मिठाई का भोग व् मोठ और बाजरा चढ़ाये ! Nag Panchami Puja करने के बाद नीचे दी हुई प्रार्थना करें ! 

सर्वे नागा: प्रीयन्तां मे ये केचित् पृथिवीतले।।

ये च हेलिमरीचिस्था येन्तरे दिवि संस्थिता।

ये नदीषु महानागा ये सरस्वतिगामिन:।

ये च वापीतडागेषु तेषु सर्वेषु वै नम:।।

Nag Panchami Puja और प्रार्थना करने के बाद नाग गायत्री मंत्र का भी जाप करें ! 

नाग गायत्री मंत्र || Nag Gayatri Mantra : “ऊँ नागकुलाय विद्महे विषदन्ताय धीमहि तन्नो सर्प: प्रचोदयात् ।” 

ADS : सरकारी नौकरी संबधित लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए इस Website पर जाए : Click Here

जिसकी इच्छा है वो व्यक्ति सर्प सूक्त का भी पाठ कर सकता है ! Nag Panchami Puja और प्रार्थना करने के बाद हाथ में मोठ व् बाजरा लेकर नागपंचमी की कहानी सुने ! कहानी समाप्त होने पर हाथ में ली हुई मोठ व् बाजरा को नाग देवता को चढ़ा दें ! उसके बाद बयाना के लिए एक कटोरी में मोठ बाजरा लेकर उसके ऊपर दक्षिणा रखकर चवल व् रोली के छीटें दें ! दोनों हाथ जोड़कर अपनी इच्छानुसार यह बयाना किसी को भी दें दें ! 

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>


यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

यह पोस्ट आपको कैसी लगी Star Rating दे कर हमें जरुर बताये साथ में कमेंट करके अपनी राय जरुर लिखें धन्यवाद : Click Here

नागपंचमी के उपाय || Nag Panchami Ke Upay : Pandit Lalit Trivedi

Call Now Button
You cannot copy content of this page