मंगलवार व्रत की आरती || Mangalvar Vrat Ki Aarti || Mangalvar Ki Aarti

मंगलवार व्रत की आरती, Mangalvar Vrat Ki Aarti, Mangalvar Ki Aarti, Mangalvar Vrat Ki Aarti Ke Fayde, Mangalvar Vrat Ki Aarti Ke Labh, Mangalvar Vrat Ki Aarti Ke Benefits, Mangalvar Vrat Ki Aarti Mp3 Download, Mangalvar Vrat Ki Aarti Pdf, Mangalvar Vrat Ki Aarti Lyrics.

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

नोट : यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

30 साल के फ़लादेश के साथ वैदिक जन्मकुंडली बनवाये केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

मंगलवार व्रत की आरती || Mangalvar Vrat Ki Aarti || Mangalvar Ki Aarti

जो भी व्यक्ति मंगलवार का उपवास करते है और मंगलवार की पूजा अर्चना में Mangalvar Vrat Ki Aarti गाई जाती हैं !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें : 9667189678 Mangalvar Vrat Ki Aarti By Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi.

मंगलवार व्रत की आरती || Mangalvar Vrat Ki Aarti || Mangalvar Ki Aarti

मंगल मूरति जय जय हनुमंता, मंगल-मंगल देव अनंता ।

हाथ व्रज और ध्वजा विराजे, कांधे मूंज जनेऊ साजे ।

शंकर सुवन केसरी नंदन, तेज प्रताप महा जगवंदन ।

लाल लंगोट लाल दोऊ नयना, पर्वत सम फारत है सेना ।

सरल  ज्योतिष उपाय के लिए हमारे Youtube चेनल को Subscriber करें : Click Here

काल अकाल जुद्ध किलकारी, देश उजारत क्रुद्ध अपारी ।

रामदूत अतुलित बलधामा, अंजनि पुत्र पवनसुत नामा ।

महावीर विक्रम बजरंगी, कुमति निवार सुमति के संगी ।

भूमि पुत्र कंचन बरसावे, राजपाट पुर देश दिवावे ।

शत्रुन काट-काट महिं डारे, बंधन व्याधि विपत्ति निवारे ।

आपन तेज सम्हारो आपै, तीनों लोक हांक ते कांपै ।

सब सुख लहैं तुम्हारी शरणा, तुम रक्षक काहू को डरना ।

तुम्हरे भजन सकल संसारा, दया करो सुख दृष्टि अपारा ।

रामदण्ड कालहु को दण्डा, तुम्हरे परसि होत जब खण्डा ।

पवन पुत्र धरती के पूता, दोऊ मिल काज करो अवधूता ।

हर प्राणी शरणागत आए, चरण कमल में शीश नवाए ।

रोग शोक बहु विपत्ति घराने, दुख दरिद्र बंधन प्रकटाने ।

तुम तज और न मेटनहारा, दोऊ तुम हो महावीर अपारा ।

दारिद्र दहन ऋण त्रासा, करो रोग दुख स्वप्न विनाशा ।

शत्रुन करो चरन के चेरे, तुम स्वामी हम सेवक तेरे ।

सरल  ज्योतिष उपाय के लिए हमारे Youtube चेनल को Subscriber करें : Click Here

विपति हरन मंगल देवा, अंगीकार करो यह सेवा ।

मुद्रित भक्त विनती यह मोरी, देऊ महाधन लाख करोरी ।

श्रीमंगलजी की आरती हनुमत सहितासु गाई ।

होई मनोरथ सिद्ध जब अंत विष्णुपुर जाई ।आरती |

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>


यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

यह पोस्ट आपको कैसी लगी Star Rating दे कर हमें जरुर बताये साथ में कमेंट करके अपनी राय जरुर लिखें धन्यवाद : Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *