शनि साधना विधि || Shani Sadhana Vidhi || Shani Dev Sadhana Vidhi

शनि साधना विधि, Shani Sadhana Vidhi, Shani Sadhana Puja Vidhi, Shani Sadhana Mantra, Shani Sadhana Puja Mantra, Shani Sadhana Siddhi Mantra, Shani Sadhana Kaise Kare.

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

नोट : यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

30 साल के फ़लादेश के साथ वैदिक जन्मकुंडली बनवाये केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

शनि साधना विधि || Shani Sadhana Vidhi || Shani Sadhana Kaise Kare

आज हम आपको Shani Sadhana Vidhi के बारे में बताने जा रहे हैं। यह तो आप सब जानते हो की हमारे हिन्दू धर्म के ग्रंथों के अनुसार शनिदेव को ग्रहों में न्यायाधीश का पद प्राप्त है ! इन्हें न्याय के देवता कहा जाता हैं। जातक के अच्छे और बुरे कर्मों का फ़ल शनिदेव ही देते हैं। जिस भी व्यक्ति पर शनिदेव की टेड़ी नजर पड़ जाए, वह थोड़े ही समय में राजा से रंक बन जाता है और जिस पर शनिदेव प्रसन्न हो जाएं वह मालामाल भी हो जाता है। Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi द्वारा बताये जा रहे शनि साधना विधि || Shani Sadhana Vidhi को जानकर आप भी शनि साधना पूरी कर सकते हैं !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! जय श्री मेरे पूज्यनीय माता – पिता जी !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें Mobile & Whats app Number : 9667189678 Shani Sadhana Vidhi By Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi.

शनि साधना विधि || Shani Sadhana Vidhi || Shani Sadhana Kaise Kare

शनि साधना कब करें || Shani Sadhana Kab Kare :

शनि साधना आप किसी शुक्ल पक्ष के शनिवार, शनि अमावस्या या शनि जयंती के दिनों में कर सकते हैं ! Shani Sadhana आप सूर्योदय के पूर्व या सूर्यास्त के बाद में की जाने वाली साधना हैं !

शनि साधना पूजा विधि || Shani Sadhana Puja Vidhi :

शनि साधना करने वाले साधक को स्नान करके शुद्ध सफेद या नीला वस्त्र ( पुरुष ) नीला वस्त्र ( स्त्री ) धारण करके किसी शनि मंदिर या अपने घर में किसी एकान्त स्थान या पूजा कक्ष में दक्षिण दिशा की तरफ़ मुख करके काले या नीले आसन पर बैठ जाए ! उसके बाद अपने सामने चौकी रखकर उस पर सवा मीटर काला रंग का कपड़ा बिछाकर उस पर चारो किनारे पर कील लगा दे। उसके बाद एक बड़ी थाली या परात में सवा किलो काला [ खड़ा ] उड़द और सवा किलो काला तिल रख लें, ध्यान रहे की बर्तन स्टील या लोहे का ही प्रयोग करे। अब सवा सौ ग्राम सरसों का तेल उडद और तिल में मिला दें, अब पुनः एक स्टील के पात्र में या थाली में “श्रीं” लिखकर शनिदेव की प्रतिमा और शनि यंत्र रख दे, अब आप शनि यंत्र या प्रतिमा पर कुंकुम केसर अष्टगंध से तिलक करे। शनि यंत्र के सामने शुद्ध सरसों के तेल का दीपक जलाये।

ॐ श्री शनिदेवाय नमो नमः

ॐ श्री शनिदेवाय शान्ति भव:

ॐ श्री शनिदेवाय शुभम फल:

ॐ श्री शनिदेवाय फल: प्राप्ति फल:।

हाथ जोड़कर ध्यान करे। और सामने काले तिल और गुड़ का भोग लगावे और नीचे लिखे मंत्र का उच्चारण के बाद शनि स्तोत्र और शनि भार्या मंत्र का उच्चारण भी कर दें।

शनि स्तोत्र

कोणस्थ: पिंगलो वभ्रः कृष्णो रौद्रान्तको यमः

सौरि: शनिश्चरो मन्दः पिप्पलादेन संस्तुत।

एतानि दश नामानि प्रातरुत्थाय य: पठेत्,

शनिश्चर कत पीडा न कदाचित भविष्यति।।

शनि भार्या स्तोत्र

ध्वजिनी धामिनी चैव कंकाली कलह-प्रिया

कलही कंटकी चापि अजा महिषी तुरंगमा।

नामानि शनि-भार्या: या नित्यं जपति यः पुमान

तस्य दुःखानि नश्यन्ति सुखं सौभाग्य मेधते।।

ऊपर दिया गया पूजन सम्पन्न करके Shani Sadhana में “काले हकीक” या “रुद्राक्ष माला” की माला से नीचे दिए गये मंत्र की 23 माला 11 दिनों तक जप करें ! और मंत्र उच्चारण करने के बाद शनि कवच का पाठ करें !

शनि साधना सिद्धि मन्त्र || Shani Sadhana Siddhi Mantra

॥ ॐ प्रां प्री प्रों सः शनैश्चराय नमः ॥

मंत्र उच्चारण करने के शनि कवच पढ़ें. दी गई यह Shani Sadhana ग्यारह दिनों की साधना है ! शनि साधना सम्पन्न होने के बाद शनि यंत्र 1 वर्ष तक सुरक्षित रखें तत्पश्चात जल में प्रवाहित कर दे। ऐसा करने से उसके जीवन में शनि सहायक होता है। साधक को चाहिए कि प्रत्येक शनिवार को शनि स्तोत्र एवं निभार्या स्तोत्र का पाँच बार उच्चारण कर लें और नित्य जाप करने से पहले ऊपर दी गई संक्षिप्त पूजन विधि जरुर करें ! साधक Shani Sadhana करने की जानकारी गुप्त रखें।

शनि साधना के लाभ / फ़ायदे || Shani Sadhana Ke Labh / Fayde 

  • जिस जातक के कष्टमय व विपरीत अवस्था में शनि की महादशा चल रही हो उसके लिए Shani Sadhana करना लाभदायक रहती हैं। 
  • Shani Sadhana को करने से जातक शनि की साढ़ेसती से होने वाले प्रतिकूल परिणाम से बच सकता हैं। 
  • यदि आपका धन कहीं फँस गया हो या रुक गया हो उसमें भी Shani Sadhana काफी फ़ायदेमद रहती हैं। 
  • जिस जातक को शनि की ढैया से नुकसान झेलना पड़ रहा हो उसके लिए शनि साधना अवश्य करनी चाहिए। 

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>


यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

यह पोस्ट आपको कैसी लगी Star Rating दे कर हमें जरुर बताये साथ में कमेंट करके अपनी राय जरुर लिखें धन्यवाद : Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *