वामन द्वादशी की पूजा विधि || Vaman Dwadashi Ki Puja Vidhi

वामन द्वादशी की पूजा विधि, Vaman Dwadashi Ki Puja Vidhi, Vaman Dwadashi Ki Pooja Vidhi, वामन द्वादशी की पूजा विधि, Vaman Dwadashi Puja Vidhi, वामन द्वादशी की पूजा विधि, Vaman Dwadashi Ki Puja Kaise Kare, वामन द्वादशी की पूजा विधि, Vaman Dwadashi Par Puja Kaise Kare, वामन जयंती की पूजा विधि, Vaman Jayanti Ki Puja Vidhi, Vaman Jayanti Ki Pooja Vidhi, वामन जयंती की पूजा विधि, Vaman Jayanti Puja Vidhi, वामन जयंती की पूजा विधि, Vaman Jayanti Ki Puja Kaise Kare, वामन जयंती की पूजा विधि, Vaman Jayanti Par Puja Kaise Kare, वामन जयंती का महत्व, Vaman Dwadashi Ka Mahtav, Vaman Dwadashi 2019, Vaman Dwadashi 2019 Me Kab Hai, वामन जयंती का महत्व, Vaman Jayanti Ka Mahtav, Vaman Jayanti 2019, Vaman Jayanti 2019 Me Kab Hai.  
  • 10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678
  • नोट : यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )
  • 30 साल के फ़लादेश के साथ वैदिक जन्मकुंडली बनवाये केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678
  • हर महीनें का राशिफल, व्रत, ज्योतिष उपाय, वास्तु जानकारी, मंत्र, तंत्र, साधना, पूजा पाठ विधि, पंचांग, मुहूर्त व योग आदि की जानकारी के लिए अभी हमारे Youtube Channel Pandit Lalit Trivedi को Subscribers करना नहीं भूलें, क्लिक करके अभी Subscribers करें : Click Here

वामन द्वादशी की पूजा विधि || Vaman Dwadashi Ki Puja Vidhi 

श्री भगवत पुराण के अष्टम स्कंध में बताया गया है। इसके अनुसार हिंदू धर्म का ग्रंथ श्री भगवत महापुराण के अष्टम् स्कंध के 17 वें अध्याय में इसके बारें में पूर्ण जानकारी दी गई है। उसके अनुसार राजा बलि के बारे में बताया गया हैं ! हम आपको यंहा वामन द्वादशी की सम्पूर्ण पूजा कैसे की जाती हैं उसके बारे में विस्तार से बताने जा रहे है इस पोस्ट की सहायता से आप भी वामन द्वादशी के दिन पूजा विधि सही तरह से कर सकते है ! Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi द्वारा बताये जा रहे वामन द्वादशी की पूजा विधि || Vaman Dwadashi Ki Puja Vidhi को पढ़कर आप भी बहुत आसन तरीके वामन द्वादशी की पूजा कर सकोंगे !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! जय श्री मेरे पूज्यनीय माता – पिता जी !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें Mobile & Whats app Number : 9667189678 Vaman Dwadashi Ki Puja Vidhi By Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi. 

वामन द्वादशी की पूजा विधि || Vaman Dwadashi Ki Puja Vidhi

वामन द्वादशी 2019 में कब हैं || Vaman Dwadashi 2019 Me Kab Hai

वामन द्वादशी व्रत ( Vaman Dwadashi ) को सितम्बर महीने की 10 तारीख़, वार मंगलवार के दिन बनाई जायेगीं !

वामन द्वादशी की पूजा विधि || Vaman Dwadashi Ki Puja Vidhi

– वामन द्वादशी के दिन जातक को सुबह स्नानादि से निवृत्त होकर व्रत करने का संकल्प लेना चाहिए । और इस दिन का उपवास रखना चाहिए।

– अभिजीत मुहूर्त में भगवान श्री विष्‍णु जी के वामन अवतार की पूजा करनी चाहिए।

– उसके बाद सायंकाल के समय में पुन: स्नान आदि करके साफ़ कपड़े पहनकर भगवान वामन जी का पंचोपचार सहित पूजन करके व्रत कथा सुननी चाहिए।
– पूजन के समय एक बर्तन में दही, चावल, शकर, तांबा या उससे बनी कोई भी वस्तु आदि रखकर उसे किसी योग्य ब्राह्मण को दान देने का विशेष महत्व है।

– इस दिन चावल और दही सहित चांदी का दान करने का विशेष विधि-विधान है।

– तत्पश्चात ब्राह्मण को भोजन करवाकर स्वयं फलाहार करना चाहिए।

– साथ ही रात्रि को जागरण अवश्य करना चाहिए।

– इसके बाद आप भगवान वामन का नाम लेकर श्रीहरि के इस मंत्र से पूजन करें।

देरेश्वराय देवश्य, देव संभूति कारिणे

प्रभाने सर्व देवानां वामनाय नमो नम:
– पूजन करने के बाद इस मंत्र को पढ़ कर अर्ध्य देना चाहिए। का जाप करें।

नमस्ये पदमनाभाय नमस्ते जल: शायिनें तुभ्यमर्च्च प्रयच्छामि वाता यामन अपिणे।।

 – ऐसा माना जाता है कि जो भक्त श्रद्धा-भक्तिपूर्वक इस दिन भगवान वामन का व्रत व पूजन करते हैं, उनके सभी कष्ट दूर होते हैं और वे भक्तों की हर मनोकामना पूरी करते हैं।

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678
यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )
यह पोस्ट आपको कैसी लगी Star Rating दे कर हमें जरुर बताये साथ में कमेंट करके अपनी राय जरुर लिखें धन्यवाद : Click Here
Related Post :